राहुल का पीएम मोदी पर वार कहा- नोटबंदी के यज्ञ में चढ़ रही आम आदमी की बलि

नयी दिल्ली : कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आज कांग्रेस के स्थापना दिवस पर नोटबंदी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर फिर एक बार निशाना साधा और कहा है कि पीएम मोदी की नोटबंदी के यज्ञ में देश के 50 परिवारों की आहुति पड़ गयी है. सरकार को चाहिए कि मृतकों के परिजनों को मुआवजा दे. नोटबंदी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ अपना हमला जारी रखते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आज उनपर ‘‘डर और गुस्से’ की राजनीति करने का आरोप लगाया तथा पार्टी कार्यकर्ताओं से उनकी विचारधारा को हराने को कहा.

नयी दिल्ली : कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आज कांग्रेस के स्थापना दिवस पर नोटबंदी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर फिर एक बार निशाना साधा और कहा है कि पीएम मोदी की नोटबंदी के यज्ञ में देश के 50 परिवारों की आहुति पड़ गयी है. सरकार को चाहिए कि मृतकों के परिजनों को मुआवजा दे. नोटबंदी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ अपना हमला जारी रखते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आज उनपर ‘‘डर और गुस्से' की राजनीति करने का आरोप लगाया तथा पार्टी कार्यकर्ताओं से उनकी विचारधारा को हराने को कहा.

500 और 1000 के बैन नोट रखने पर मिलेगी सजा, मोदी सरकार ने पास किया अध्यादेश

केंद्रीय कैबिनेट ने बंद हो चुके पुराने नोटों के रखने की सीमा को लेकर अध्यादेश को मंजूरी दे दी है. प्राप्त जानकारी के अनुसार कैबिनेट ने पुराने 500, 1,000 रुपये के नोट रखने वालों को दंडित करने के प्रावधान वाले अध्यादेश को आज मंजूरी दी.

केंद्रीय कैबिनेट ने बंद हो चुके पुराने नोटों के रखने की सीमा को लेकर अध्यादेश को मंजूरी दे दी है. प्राप्त जानकारी के अनुसार कैबिनेट ने पुराने 500, 1,000 रुपये के नोट रखने वालों को दंडित करने के प्रावधान वाले अध्यादेश को आज मंजूरी दी.

अजमेर-सियालदह ट्रेन हादसा: दो की मौत, अखिलेश सरकार के किया मुआवजे का एलान

कानपुर देहात के पास आज सुबह सियालदह-अजमेर एक्सप्रेस के 15 डिब्बे पटरी से उतर गए जिसमें 2 लोगों की मौत हो गई और 52 लोग जख्मी हो गए. हादसे के बाद यूपी सरकार ने मुआवजे का ऐलान किया है. राज्य सरकार ने मामूली रूप से घायल यात्रियों को 25000 रुपये जबकि गंभीर रूप से घायल यात्रियों को 50,000 रुपये मुआवजे के तौर पर देने का ऐलान किया है.

कानपुर देहात के पास आज सुबह सियालदह-अजमेर एक्सप्रेस के 15 डिब्बे पटरी से उतर गए जिसमें 2 लोगों की मौत हो गई और 52 लोग जख्मी हो गए. हादसे के बाद यूपी सरकार ने मुआवजे का ऐलान किया है. राज्य सरकार ने मामूली रूप से घायल यात्रियों को 25000 रुपये जबकि गंभीर रूप से घायल यात्रियों को 50,000 रुपये मुआवजे के तौर पर देने का ऐलान किया है.

कानपुर के पास ट्रेन के 15 डिब्बे पटरी से उतरे, 2 की मौत, VIDEO में देखें दर्दनाक हादसा

कानपुर : कानपुर देहात के पास अजमेर-सियालदाह ट्रेन पटरी से उतर गई. हादसे में 30 लोगों के घायल होने की खबर है. प्राप्त जानकारी के अनुसार हादसा बुधवार सुबह करीब 5:30 बजे हुआ.

कानपुर : कानपुर देहात के पास अजमेर-सियालदाह ट्रेन पटरी से उतर गई. हादसे में 30 लोगों के घायल होने की खबर है. प्राप्त जानकारी के अनुसार हादसा बुधवार सुबह करीब 5:30 बजे हुआ.

भारत पर नापाक हमले के लिए ISIS से मदद की फिराक में आतंकी हाफिज सईद!

पाकिस्‍तान में छुपा बैठा आतंकवादी हाफिज सईद भारत पर ताजा आतंकवादी हमले की फिराक में है. इसके लिए वह सीरिया के आईएसआईएस के साथ संबंध मजबूत करने में जुटा हुआ है. भारत को लगातार धमकियां देने के बाद हाफिज अब पाकिस्‍तानी सरकार से भी भारत की ओर दोस्‍ती का हाथ नहीं बढ़ाने की सलाह दी है. प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन जमात उद दावा प्रमुख और 2008 के मुंबई आतंकवादी हमलों के सरगना हाफिज सईद ने पाक सरकार से कहा है कि भारत के साथ मित्रता नहीं करे और दावा किया कि भारतीय सुरक्षा बल कश्मीर में अत्याचार कर रहे हैं.

पाकिस्‍तान में छुपा बैठा आतंकवादी हाफिज सईद भारत पर ताजा आतंकवादी हमले की फिराक में है. इसके लिए वह सीरिया के आईएसआईएस के साथ संबंध मजबूत करने में जुटा हुआ है. भारत को लगातार धमकियां देने के बाद हाफिज अब पाकिस्‍तानी सरकार से भी भारत की ओर दोस्‍ती का हाथ नहीं बढ़ाने की सलाह दी है. प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन जमात उद दावा प्रमुख और 2008 के मुंबई आतंकवादी हमलों के सरगना हाफिज सईद ने पाक सरकार से कहा है कि भारत के साथ मित्रता नहीं करे और दावा किया कि भारतीय सुरक्षा बल कश्मीर में अत्याचार कर रहे हैं.

जेल के बाहर आया ‘पत्थरबाजों का सरदार’, पढें कौन है मसरत आलम

श्रीनगर : जम्मू एवं कश्मीर का अलगाववादी नेता मसरत आलम जेल से बाहर आ चुका है. मंगलवार को उच्च न्यायालय ने आलम को रिहा करने के आदेश दिए थे. राज्य में लोक सुरक्षा के लिए खतरा होने और संकट पैदा करने के आरोपों में आलम छह साल से सलाखों के पीछे था. साल 2010 में कश्मीर घाटी में उत्पात के बाद आलम को जन सुरक्षा कानून (पीएसए) के तहत गिरफ्तार किया गया था जिसके बाद से उसे जम्मू के पास कठुआ जेल में रखा गया था. इस उपद्रव में 100 से अधिक लोगों की जान चली गई थी.

श्रीनगर : जम्मू एवं कश्मीर का अलगाववादी नेता मसरत आलम जेल से बाहर आ चुका है. मंगलवार को उच्च न्यायालय ने आलम को रिहा करने के आदेश दिए थे. राज्य में लोक सुरक्षा के लिए खतरा होने और संकट पैदा करने के आरोपों में आलम छह साल से सलाखों के पीछे था. साल 2010 में कश्मीर घाटी में उत्पात के बाद आलम को जन सुरक्षा कानून (पीएसए) के तहत गिरफ्तार किया गया था जिसके बाद से उसे जम्मू के पास कठुआ जेल में रखा गया था. इस उपद्रव में 100 से अधिक लोगों की जान चली गई थी.

कैबिनेट मीटिंग आज: बंद हुए पुराने नोट रखने की सीमा और उस पर जुर्माने के लिए अध्यादेश ला सकती है सरकार

नयी दिल्ली : नोटबंदी पर सरकार और भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) को जवाबदेही से मुक्त करने के लिए अध्यादेश आज लाया जा सकता है. आज होने वाली केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में इसे रखे जाने की संभावना है. नोटबंदी पर सरकार व आरबीआइ को दायित्व से मुक्त करने के लिए एक अध्यादेश बुधवार यानी आज केंद्रीय कैबिनेट के समक्ष लाया जा सकता है.

नयी दिल्ली : नोटबंदी पर सरकार और भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) को जवाबदेही से मुक्त करने के लिए अध्यादेश आज लाया जा सकता है. आज होने वाली केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में इसे रखे जाने की संभावना है. नोटबंदी पर सरकार व आरबीआइ को दायित्व से मुक्त करने के लिए एक अध्यादेश बुधवार यानी आज केंद्रीय कैबिनेट के समक्ष लाया जा सकता है.

कैसे होता है राजनीतिक दलों में कालेधन को सफेद बनाने का खेल

चुनाव आयोग भी यह मानता है कि राजनीतिक पार्टियों में कालेधन को बड़े पैमाने पर खपाया जाता है. नोटबंदी के बाद यह सवाल बार-बार उठते रहे हैं कि आय के स्रोतों का खुलासा करने की कानून बाध्यता के मामले में आम आदमी और राजनीतिक दलाें के बीच भेद क्यों? चुनाव आयोग ने पहले भी यह सिफारिश की थी कि चंदे में मिलने वाली हर रकम का स्रोत राजनीतिक पार्टियों को बताना चाहिए. नोटबंदी के बाद एक बार फिर आयोग ने इसकी सिफारिश केंद्र सरकार से की है.

चुनाव आयोग भी यह मानता है कि राजनीतिक पार्टियों में कालेधन को बड़े पैमाने पर खपाया जाता है. नोटबंदी के बाद यह सवाल बार-बार उठते रहे हैं कि आय के स्रोतों का खुलासा करने की कानून बाध्यता के मामले में आम आदमी और राजनीतिक दलाें के बीच भेद क्यों? चुनाव आयोग ने पहले भी यह सिफारिश की थी कि चंदे में मिलने वाली हर रकम का स्रोत राजनीतिक पार्टियों को बताना चाहिए. नोटबंदी के बाद एक बार फिर आयोग ने इसकी सिफारिश केंद्र सरकार से की है.

हवाला कनेक्शन: कोटक महिंद्रा के मैनेजर को इडी ने किया गिरफ्तार

नयी दिल्ली : हवाला कारोबारियों के साथ सांठगांठ के आरोप में प्रवर्तन निदेशालय (इडी) ने दिल्ली के कस्तूबा गांधी मार्ग (केजी मार्ग) स्थित कोटक महिंद्रा बैंक के मैनेजर को गिरफ्तार किया है. आरोप है कि नोटबंदी के बाद से बैंक में कई फर्जी बैंक अकाउंट्स से करोड़ों का लेन-देन हुआ.

नयी दिल्ली : हवाला कारोबारियों के साथ सांठगांठ के आरोप में प्रवर्तन निदेशालय (इडी) ने दिल्ली के कस्तूबा गांधी मार्ग (केजी मार्ग) स्थित कोटक महिंद्रा बैंक के मैनेजर को गिरफ्तार किया है. आरोप है कि नोटबंदी के बाद से बैंक में कई फर्जी बैंक अकाउंट्स से करोड़ों का लेन-देन हुआ.

क्यों नोटबंदी पर गोलबंद नहीं हो पा रहे विपक्षी दल?

नोटबंदी पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक जैसे कुछ बड़े विपक्षी नेताओं को छोड़ कर अमूमन सभी विपक्षी नेता केंद्र सरकार के विरोध में हैं. यह विरोध अब भी जारी है. इसमें इन दलों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. सरकार की सहयोगी पार्टियां, अकाली दल और शिवसेना भी इस के विरोध में शामिल हैं. वर्तमान राष्ट्रीय राजनीति में इन सभी के एजेंडे में नोटबंदी का विरोध पहले नंबर पर है.

नोटबंदी के मुद्दे पर संसद ठीक से नहीं चल सकी. एक माह के शीतकालीन सत्र में लोकसभा व राज्यसभा में बहुम कम काम हुआ. संसद के बाहर भी यह सत्ता और विपक्ष का सबसे बड़ा मुद‍ा है आैर अगले साल देश के पांच राज्यों, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा, मणिपुर और पंजाब में होने वाले विधानसभा चुनाव जिन मुद्दों पर लड़े जाने हैं, उनमें नोटबंदी सबसे बड़ा मुद्दा होगा.

नोटबंदी पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक जैसे कुछ बड़े विपक्षी नेताओं को छोड़ कर अमूमन सभी विपक्षी नेता केंद्र सरकार के विरोध में हैं. यह विरोध अब भी जारी है. इसमें इन दलों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. सरकार की सहयोगी पार्टियां, अकाली दल और शिवसेना भी इस के विरोध में शामिल हैं. वर्तमान राष्ट्रीय राजनीति में इन सभी के एजेंडे में नोटबंदी का विरोध पहले नंबर पर है. नोटबंदी के मुद्दे पर संसद ठीक से नहीं चल सकी. एक माह के शीतकालीन सत्र में लोकसभा व राज्यसभा में बहुम कम काम हुआ. संसद के बाहर भी यह सत्ता और विपक्ष का सबसे बड़ा मुद‍ा है आैर अगले साल देश के पांच राज्यों, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा, मणिपुर और पंजाब में होने वाले विधानसभा चुनाव जिन मुद्दों पर लड़े जाने हैं, उनमें नोटबंदी सबसे बड़ा मुद्दा होगा.