निर्भया प्रकरण : फाशी टाळण्यासाठी आता आरोपी अक्षयची कोर्टात पुन्हा धाव

शुक्रवारी पवनने याचिका दाखल करत फाशीऐवजी जन्मठेप दिली जावी असं म्हटलं होतं आता अक्षयने याचिका दाखल केली आहे

शुक्रवारी पवनने याचिका दाखल करत फाशीऐवजी जन्मठेप दिली जावी असं म्हटलं होतं आता अक्षयने याचिका दाखल केली आहे

Maharashtra ministers meet senior counsel Mukul Rohatgi, discuss Maratha reservation case

Maharashtra cabinet sub-committee, set up under the chairmanship of Minister of Public Works Department Ashok Chavan, on Saturday met the state’s senior counsel to discuss the further course of action over the Maratha reservation case.
The sub-committe…

Maharashtra cabinet sub-committee, set up under the chairmanship of Minister of Public Works Department Ashok Chavan, on Saturday met the state's senior counsel to discuss the further course of action over the Maratha reservation case.

The sub-committee, also comprising cabinet ministers Shiv Sena leader Eknath Shinde and NCP leader Dilip Walse Patil, met senior counsel Mukul Rohatgi here to discuss the future course of action in the case in the Supreme Court.

"The sub-committee met Rohatgi today and discussed issues regarding the approach to be taken by the legal teams in the upcoming date of hearing in the case on March 17. We want the Maratha reservation to be implemented without any problems," Chavan told reporters here.

Senior officials of the state legislature, general administration, and other departments were also present in the meeting, which also discussed other matters related to Maratha reservation.

"We discussed ways of preparing for the upcoming hearing as there are people who have challenged the reservation and we have therefore appointed senior lawyers for the case so that we get the results in our favour," he said.

Chavan also talked about farmers' issues and said that the government is considering the matter and trying to ensure that they get the best possible relief.

Eknath Shinde, on the other hand, said that the High Court has allowed five per cent Muslim reservation in the state.

"Chief Minister Uddhav Thackeray is in favour of taking all the communities ahead. For farmers, the chief minister has announced farm loan waiver up to Rs 2 lakh and we are on the course of its successful implementation," he said.

Shinde added that the Maha Vikas Aghadi government also took feedback from the farmers, who, he claimed, are optimistic about the relief.

Catch up on all the latest Crime, National, International and Hatke news here. Also download the new mid-day Android and iOS apps to get latest updates

दिल्ली हिंसा के बाद एसएन श्रीवास्तव ने संभाला पुलिस कमिश्नर का पद

आईपीएस अधिकारी एसएन श्रीवास्तव ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर का पद 29 फरवरी को संभाल लिया। उन्होंने अमूल्य पटनायक की जगह ली है। पटनायक 29 फरवरी को रिटायर हुए हैं। पद संभालने के बाद उन्होंने कहा, ‘शहर में शांति और सांप्रदायिक सौहार्द्र को बहाल करना मेरी प्राथमिकता होगी। हम हत्या के कानून के तहत भी मामले दर्ज कर रहे हैं, जिससे इस तरह की घटना दोबारा न हो। अपराधियों को पकड़ने की कोशिश की जा रही है।’

आईपीएस अधिकारी एसएन श्रीवास्तव ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर का पद 29 फरवरी को संभाल लिया। उन्होंने अमूल्य पटनायक की जगह ली है। पटनायक 29 फरवरी को रिटायर हुए हैं। पद संभालने के बाद उन्होंने कहा, 'शहर में शांति और सांप्रदायिक सौहार्द्र को बहाल करना मेरी प्राथमिकता होगी। हम हत्या के कानून के तहत भी मामले दर्ज कर रहे हैं, जिससे इस तरह की घटना दोबारा न हो। अपराधियों को पकड़ने की कोशिश की जा रही है।'


चेन्नई: माधवरम में तेल गोदाम में लगी भीषण आग

चेन्नई के माधवरम स्थित एक तेल गोदाम में भीषण आग लग गई है। आग को बुझाने के लिये 4 फायर टेंडर्स लगे हैं। इस आग में किसी के घायल अथवा मारे जाने की खबर नहीं है। आग लगने के कारणों की के बारे में फिलहाल पता नहीं चल पाया है।

चेन्नई के माधवरम स्थित एक तेल गोदाम में भीषण आग लग गई है। आग को बुझाने के लिये 4 फायर टेंडर्स लगे हैं। इस आग में किसी के घायल अथवा मारे जाने की खबर नहीं है। आग लगने के कारणों की के बारे में फिलहाल पता नहीं चल पाया है।


दिल्ली हिंसा: दंगों के बाद स्थानीय लोगों को पानी की किल्लत

उत्तर-पूर्व दिल्ली के करावल नगर में स्थानीय लोगों को पानी की कमी का सामना करना पड़ रहा है। दिल्ली का यह इलाका दंगों से प्रभावित है। दंगों के बाद से यहां पर पानी की किल्लत हो रही है। लोगों को दूर से पीने का पानी लाना पड़ रहा है। दिल्ली में हुए दंगों में 42 लोगों की जान गई है।

उत्तर-पूर्व दिल्ली के करावल नगर में स्थानीय लोगों को पानी की कमी का सामना करना पड़ रहा है। दिल्ली का यह इलाका दंगों से प्रभावित है। दंगों के बाद से यहां पर पानी की किल्लत हो रही है। लोगों को दूर से पीने का पानी लाना पड़ रहा है। दिल्ली में हुए दंगों में 42 लोगों की जान गई है।


11 मार्च से प्रस्तावित 3 दिवसीय बैंक हड़ताल टली

बैंक संगठनों ने 11 मार्च से होने वाली तीन दिवसीय हड़ताल टाल दी है।

कोलकाता बैंक कर्मचारियों के विभिन्न संगठनों की 11 मार्च से प्रस्तावित तीन दिवसीय देशव्यापी हड़ताल को टाल दिया गया है। बैंक कर्मचारियों के एक संगठन ऑल इंडिया बैंक एंपलॉइज एसोसिएशन ने यहां एक बयान में इसकी जानकारी दी। संगठन ने कहा कि शनिवार को मुंबई में भारतीय बैंक संगठन (आईबीए) के साथ हुई बैठक में सकारात्मक प्रगति होने के कारण हड़ताल टालने का फैसला लिया गया है। बैंकिंग क्षेत्र के कर्मचारियों के संगठनों के समूह यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस ने इस हड़ताल का आह्वान किया था। ऑल इंडिया बैंक एंप्लॉइज एसोसिएशन ने बयान में कहा कि मुंबई में विभिन्न कर्मचारी संगठनों की आईबीए के साथ बैठक हुई। इस बैठक में सप्ताह में पांच ही दिन बैंक खोलने तथा वेतन में 15 प्रतिशत वृद्धि जैसे मुद्दों पर चर्चा हुई। आईबीए विभिन्न संगठनों द्वारा उठाए गए मुद्दों पर बातचीत के लिए राजी हो गया है। वेतनवृद्धि को लेकर बैंक कर्मचारियों के संगठन 31 जनवरी और एक फरवरी को पहले ही दो दिवसीय हड़ताल कर चुके हैं।

मध्य प्रदेश: श्योपुर में महिला ने 6 बच्चों को दिया जन्म

मध्य प्रदेश के श्योपुर में एक महिला ने 6 बच्चों को जन्म दिया। हालांकि इनमें से दो बच्चों की मौत पैदा होने के कुछ घंटों बाद ही हो गई। ज़िला अस्पताल के सिविल सर्जन का कहना है कि बचे हुए चार बच्चों की हालत भी गंभीर है।

मध्य प्रदेश के श्योपुर में एक महिला ने 6 बच्चों को जन्म दिया। हालांकि इनमें से दो बच्चों की मौत पैदा होने के कुछ घंटों बाद ही हो गई। ज़िला अस्पताल के सिविल सर्जन का कहना है कि बचे हुए चार बच्चों की हालत भी गंभीर है।


अनुच्छेद 370 खत्म होने से पहले लोगों में असुरक्षा की भावना थी: लद्दाख सांसद

लद्दाख के सांसद जमयांग सेरिंग नामग्याल ने गुजरात में हो रहे ‘इंडिया आईडियास कॉन्क्लेव’ में लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि लद्दाख के लोगों में अनुच्छेद 370 खत्म किये जाने के पहले भय और असुरक्षा की भावना थी। उन्होंने कहा, ‘लद्दाख के एक तरफ कट्टर इस्लाम था और दूसरी तरफ कम्युनिस्ट चीन… इसके बीच में अनुच्छेद 370 था जो हमें मुख्यधारा से जुड़ने नहीं दे रहा था। अनुच्छेद 370 के खत्म किये जाने के पहले लोगों में असुरक्षा की भावना थी।’

लद्दाख के सांसद जमयांग सेरिंग नामग्याल ने गुजरात में हो रहे 'इंडिया आईडियास कॉन्क्लेव' में लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि लद्दाख के लोगों में अनुच्छेद 370 खत्म किये जाने के पहले भय और असुरक्षा की भावना थी। उन्होंने कहा, 'लद्दाख के एक तरफ कट्टर इस्लाम था और दूसरी तरफ कम्युनिस्ट चीन... इसके बीच में अनुच्छेद 370 था जो हमें मुख्यधारा से जुड़ने नहीं दे रहा था। अनुच्छेद 370 के खत्म किये जाने के पहले लोगों में असुरक्षा की भावना थी।'