TCS को पछाड़ RIL फिर बनी नंबर 1 कंपनी

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड एक बार फिर टीसीएस को पछाड़कर देश की सबसे मूल्यवान कंपनी बन गई। मंगलवार के कारोबार में इस तरह आरआईएल का एमकैप टीसीएस से 21,133.32 करोड़ रुपये अधिक हो गया है।

नई दिल्ली देश की सबसे बड़ी आईटी कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज () को पछाड़कर एक बार फिर इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) बाजार पूंजीकरण के हिसाब से देश की सबसे मूल्यवान कंपनी बन गई। मंगलवार को बीएसई के बंद होने पर का एमकैप 7,05,211.81 करोड़ रुपये रहा, जबकि का एमकैप 6,84,078.49 करोड़ रुपये रहा। इस तरह आरआईएल का एमकैप टीसीएस से 21,133.32 करोड़ रुपये अधिक हो गया है। आरआईएल का शेयर मंगलवार को 7.76% की तेजी के साथ 1,112.45 रुपये पर रहा, जबकि टीसीएस का शेयर महज 2.64% उछलकर 1,823.05 रुपये पर रहा। बीते 27 मार्च को आरआईएल को पछाड़कर टीसीएस बाजार पूंजीकरण के हिसाब से देश की सबसे मूल्यवान कंपनी बनी थी। पढ़ें : दोनों कंपनियां आरआईएल तथा टीसीएस पहले भी बाजार पूंजीकरण के आधार पर एक दूसरे को पछाड़ती रही हैं। ऊर्जा, वित्तीय और दैनिक उपयोग का सामान बनाने वाली एफएमसीजी कंपनियों के शेयरों में तेजी की अगुवाई में शेयर बाजार मंगलवार को मजबूत हुआ। 30 शेयरों वाला बीएसई सेंसेक्स 1,028.17 अंक यानी 3.62 प्रतिशत की तेजी के साथ 29,468.49 अंक पर बंद हुआ। इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 316.65 अंक यानी 3.82 प्रतिशत मजबूत होकर 8,597.75 अंक पर बंद हुआ।

NMDC Limited to advance royalty payment of Rs 200 crore to the Chhattisgarh government

The move comes on top of NMDC’s contribution of Rs 150 crore to the PMCARES Fund of the government of India. With its contribution of Rs 200 crore as advance royalty to Chhattisgarh, NMDC has now supported both central and state governments in the figh…

The move comes on top of NMDC's contribution of Rs 150 crore to the PMCARES Fund of the government of India. With its contribution of Rs 200 crore as advance royalty to Chhattisgarh, NMDC has now supported both central and state governments in the fight against COVID-19.

Small savings schemes to fetch lower returns

Small savings schemes to fetch lower returnsRates of these schemes have been slashed by between 70 bps and 140 bps for the Apr-June quarter.

Small savings schemes to fetch lower returnsRates of these schemes have been slashed by between 70 bps and 140 bps for the Apr-June quarter.

Government launches dedicated Twitter handle for COVID-19 updates

The Ministry of Information and Broadcasting on Tuesday set up a dedicated Twitter handle for sharing news and updates about the novel coronavirus. The account is named #IndiaFightsCorona and uses the handle @CovidnewsbyMIB.

The Ministry of Information and Broadcasting on Tuesday set up a dedicated Twitter handle for sharing news and updates about the novel coronavirus. The account is named #IndiaFightsCorona and uses the handle @CovidnewsbyMIB.

COVID-19 impact: Near-term cash flow stress expected in construction sector, says Icra

Recent developments witnessed labourers migrating to their home towns, thus impacting construction activities. Disruption in the second-half of March 2020 will result in modest revenue growth/de-growth in Q4-FY2020, it said, adding the major impact is …

Recent developments witnessed labourers migrating to their home towns, thus impacting construction activities. Disruption in the second-half of March 2020 will result in modest revenue growth/de-growth in Q4-FY2020, it said, adding the major impact is expected in Q1-FY2021 with construction activities stalled during the first half of April-2020.

लॉकडाउन में भी खुले फूड रहेंगे टेस्टिंग लैब

कोरोना वायरस महामारी को रोकने के लिए सरकार द्वारा किए गए लॉकडाउन में भी फुड टेस्टिंग लैब खुले रहेंगे। इसका मकसद खाद्य पदार्थों का आयात बाधित न हो यह सुनिश्चित करना है।

नई दिल्ली कोरोना वायरस की वजह से हुए लॉकडाउन में भी खाद्य पदार्थों का आयात बाधित नहीं हो यह सुनिश्चित करने के लिए उनका परीक्षण नहीं रुकेगा। इसके लिए सरकार ने इन दोनों सेवाओं को आवश्यक सेवा की श्रेणी में डालकर जांच की सभी प्रयोगशालाओं को आम दिनों की तरह खोलने का निर्णय लिया है। खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण () से मिली जानकारी के अनुसार अब खाद्य पदार्थों के आयात की मंजूरी और अधिसूचित खाद्य परीक्षण प्रयोगशालाएं (राष्ट्रीय खाद्य प्रयोगशालाओं सहित) सोमवार से शुक्रवार तक सुबह 09:30 बजे से शाम के छह बजे तक खुले रहेंगे। मतलब लॉकडाउन की अवधि में भी इनके कर्मचारियों को दफ्तर में उपस्थित रहना आवश्यक है। FSSAI के इस समय छह स्थानों पर अपने कार्यालय हैं। इनमें चेन्नै, कोलकाता, मुंबई, दिल्ली, कोचिन और तूतीकोरीन शामिल हैं। इन शहरों के कार्यालय में आवेदनों की जांच, विजुलअ इंस्पेक्शन और इंपोर्ट सैंपल की जांच का काम पहले की तरह चलेगा। सरकार ने खाद्य पदार्थों के आयातकों को भी सलाह दी है कि वे अपने क्लियरिंग एजेंटों को सक्रिय करें तो इस सेवा का लाभ लेना शुरू करें।

Chemists Claim Shortage of Essential Medicines Due To Hoarding & Panic Buying

In a state like Punjab, where the government has enforced strict curfew norms because of a huge NRI population, chemists are not allowed to open shops and only home delivery of medicines is allowed.

In a state like Punjab, where the government has enforced strict curfew norms because of a huge NRI population, chemists are not allowed to open shops and only home delivery of medicines is allowed.